कुलदीप शर्मा ब्यूरो
न्यूज हिमाचल 24

मंडी। हिमाचल सरकार का प्रयास है कि प्रदेश में गांवों से शहरों तक खेल ढांचा मजबूत हो तथा खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण सुविधाएं और बेहतर हों।


इसके लिए नए स्टेडियम बनाने और खेल प्रशिक्षण की सुविधाओं को बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। हमारी कोशिश है कि प्रदेश के युवाओं को खेलों में करियर बनाने को लेकर यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं उपलब्ध हों, ताकि ओलंपिक, एशियन और कॉमनवेल्थ जैसी स्पर्धाओं में हमारे खिलाड़ी अपने प्रदेश का, देश का नाम ऊंचा करें और पदक तालिका में हम शीर्ष देशों में शुमार हों।
ये बात जल शक्ति मन्त्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने शुक्रवार को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के सन्धोल में देश राज शर्मा खेल परिसर में आयोजित 19वीं अखिल भारतीय डॉ वाई.एस.परमार मेमोरियल वॉलीबाल प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए कही। प्रदेश के युवा सेवाएं एवं खेल विभाग द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव की शृंखला के तहत 19 से 21 नवम्बर तक आयोजित इस प्रतियोगिता में देशभर की 12 टीमों के लगभग 200 खिलाड़ी एवं सहायक स्टाफ भाग ले रहे हैं। इनमें 8 टीमें पुरुषों की और 4 महिला टीमें हैं।
इस मौके जल शक्ति मन्त्री ने संधोल से संबंध रखने वाले अंतरराष्ट्रीय स्तर के वॉलीबाल खिलाड़ी स्वर्गीय देश राज शर्मा की खेल परिसर में नवस्थापित मूर्ति का अनावरण किया । इस खेल परिसर का नामकरण भी श्री देश राज शर्मा के नाम पर किया गया है। मंत्री ने उनकी खेल सेवाओं को स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने कहा कि श्री देश राज का उपलब्धियों भरा जीवन सभी के लिए प्रेरणादाई है। विशेषकर युवा खिलाड़ी उनसे प्रेरणा लेकर अपने खेल जीवन को सही की दिशा व गति दे सकते हैं।
पेयजल सुविधा के सुधार पर ज़ोर
खेल प्रतियोगिता के शुभारम्भ के उपरांत अपने सम्बोधन में जल शक्ति मन्त्री ने कहा कि
प्रदेश सरकार हर क्षेत्र के समान विकास पर बल दे रही है। प्रदेश में पेयजल सुविधा को और बेहतर बनाने के लिए निर्णायक कदम उठाए गए हैं। इसके लिए हजारों करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे हैं।
जल जीवन मिशन में हर घर को नल से शुद्ध जल की व्यवस्था के लिए इस साल लगभग 1500 करोड़ रुपये खर्चने के साथ साथ एशियन विकास बैंक के माध्यम से पुरानी पेयजल योजनाओं के जीर्णोद्धार पर 1 हजार करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में नई पेयजल योजनाओं के लिए ब्रिक्स और एनडीबी के सहयोग से 800 करोड़ रुपये के अलावा प्रदेश में सीवरेज व्यवस्था के सुधार व विस्तार पर एएफडी के सहयोग से 900 करोड़ खर्चे जा रहे हैं।
सन्धोल-टिहरा में पेयजल और सिंचाई को पौने 300 करोड़
जल शक्ति मंत्री ने कहा कि
सन्धोल और टिहरा क्षेत्र में पेयजल और सिंचाई सुविधा पर करीब पौने 300 करोड़ रुपये खर्चे जा रहे हैं।
ब्यास नदी से 115 करोड़ रुपये की सिद्धपुर-कमलाह- मंडप योजना और करीब 112 करोड़ की संधोल से
टोरखोला- टिहरा- रखोह उठाऊ पेयलज योजना का काम ज़ोरों पर है। इनसे सन्धोल और टिहरा क्षेत्र में पेयजल सुविधा और मजबूत होगी। इसके अलावा ब्यास से बन रही संधोल से टोरखोला-टीहरा- रखोह जल ऊठाऊ योजना का काम भी तेज गति से चल रहा है। संधोल व आसपास की आठ पंचायतों के लिए 20 करोड़ रुपये की नई जल ऊठाऊ योजना और सिंचाई के लिए संधोल में 25 करोड़ रुपये की योजना का काम भी तेजी से चल रहा है।
ये रहे मौजूद
इस अवसर पर भाजपा प्रदेश मीडिया सह प्रभारी रजत ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष मंडल भाजपा कश्मीर सिंह,
जिला परिषद सदस्य मीना कुमारी प्रधान सौहर पंचायत इंदरा देवी, खेल विभाग शिमला के अनुराग वर्मा,
ज़िला युवा सेवाएं एवं खेल अधिकारी मंडी नरेश कुमार,
सपोर्टस एंड क्लचरल क्लब संधोल के प्रधान राजकुमार शर्मा और महासचिव शैलेन्द्र शर्मा, महासचिव तथा पूर्व अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी स्व. देश राज शर्मा के परिवार जन सहित प्रतिभागी और अन्य लोग उपस्थित रहे।