मायका पक्ष ने ससुरालियों पर लगाया प्रताडऩा का आरोप ,
पिता बोले आत्महत्या नहीं बेटी की करी गई है हत्या


किरण पधर (मंडी) /न्यूज़ हिमाचल 24


उपमंडल की ग्राम पंचायत पाली के मसेरन गांव में 49 वर्षीय महिला ने फंदा लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर दी। मायका पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लाश को कब्जे में ले लिया है। वारदात के पीछे लंबे समय से ससुराल पक्ष द्वारा महिला को प्रताडि़त करने का मामला सामने आया है। मसेरन गांव की महिला शितला देवी पत्नी लेख राज का शव शनिवार सुबह गऊशाला के समीप बिहुल के पेड़ के साथ लटका हुआ मिला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना परिवार के सदस्यों के अलावा महिला के मायके वालों को दी। घटना की सूचना मिलते है मायके वाले पुलिस की टीम केे साथ गांव में पहुंचे। बेटी के साथ लंबे समय से ससुरालियों द्वारा प्रताडऩा करने और बेटी द्वारा उठाए गए कदम से मायके वाले गुस्से में दिखे। मायका पक्ष बेटी की लाश को ससुरालियों के घर के आंगन में जलाने की बात करते रहे। तनाव का माहौल देख पुलिस ने ससुराल के सभी सदस्यों को तत्काल पुलिस थाना को तलब कर दिया। मंडी से फोरेंसिक टीम भी तुरंत घटना स्थल पहुंची। पुलिस लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए मंडी ले गई है। घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी पधर लोकेंद्र नेगी भी घटना स्थल पहुंचे। उन्होंने गुस्साए मायका पक्ष के लोगों और ग्रामीणों को मामले की न्यायिक जांच और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की बात कहकर उन्हें शांत किया। महिला के पास से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। मृतक महिला ने ससुरालियों की प्रताडऩा से दुखी होकर आत्महत्या करने का कदम उठाने की बात कही है। सुसाइड नोट में लगाए गए आरोपों की जांच पुलिस हेंड राइटिंग से करेगी। मृतका के पिता धर्म सिंह ने कहा कि वर्ष 1994 में जबसे बेटी की शादी की थी, तबसे पति, जेठ, जेठानी, सास और नंनद जो ससुराल छोडक़र मायके में रहती है सभी सामुहिक रूप से उनकी बेटी को प्रताडि़त करते थे। कई मर्तबा समझौता भी किया गया, लेकिन बेटी के ससुरालिए अपनी करनी से बाज नहीं आए। कुछ समय से बेटी को ससुराल में अलग कमरा दिलवाया। मगर भारतीय सेना से एक वर्ष पूर्व ऑरेनरी कैप्टन रिटायर्ड आए उनके दामाद ने कमरे की बिजली बंद कर उसे घर से निकाल दिया, जो डर के कारण गौशाला में रहती थी। गत रात को करीब 10 बजे उनकी बेटी शितला के साथ बात हुई। उसने रौंहदे गले से बात की। बाद में फोन काट दिया। उन्होंने शनिवार को बेटी को मायके में आ जाने को बोला था। घटना से वह दुखी हैं। कहा कि आज भी उसके खानपान की सामग्री और कपड़े पुलिस ने गौशाला से बरामद किए हैं। उन्होंने कहा कि बेटी शितला बहुत ही शालीन थी। ससुराल वाले उसके साथ किस कदर प्रताडऩा करते थे, लोक लज्जा के मारे वह मायके वालों को बताने से भी गूरेज करती थी। उन्होंने कहा कि बेटी को मारा गया है और हत्यारों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। पांच अक्तूबर को बेटी ने ससुरालियों के खिलाफ पधर पुलिस थाना में एफआइआर दर्ज करवाई है। धर्म सिंह ने बताया कि मामले पर कार्यवाही करते हुए शुक्रवार को पुलिस ने उनकी बेटी शितला देवी को गांव के गवाहों सहित थाना में बुलाया था। इस दौरान बेटा सुरेश कुमार जो भारतीय सेना में है अवकाश पर घर आया है, अपने पिता लेख राज के पक्ष में खड़ा रहा जो रात को ही घर से फ्रार हो गया है। डीएसपी पधर से मांग की है कि सुरेश कुमार को भी शीघ्र गिरफ्तार किया जाए। पूरे मामले को लेकर पुलिस ने भादंसं की धारा 498 और 306 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। मामले की पुष्टि करते हुए डीएसपी पधर लोकेंद्र नेगी ने बताया कि पुलिस थाना में महिला की शिकायत पर पहले से मामला दर्ज है। महिला द्वारा आत्महत्या के लिए उठाए गए कदम के पीछे जो भी कारण रहे होंगे पुलिस जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने मृतका के पति लेख राज, सास कुब्जा देवी, नंनद सोम लता, जेठ लीला विलास और उसकी जेठानी बबली देवी को थाना में पुछताछ के लिए तलब किया है। लेखराज के बेटे सुरेश कुमार को पुलिस ढूंढ रही है।