fbpx


अंशुल शर्मा।सरकाघाट।
धर्मपुर में अगले कल 29 नवंबर को मुख्यमंत्री की जनसभा को सफल बनाने के लिए ग्रामीण विभाग ने मनरेगा कार्य बंद रखने का आदेश जारी किया है।मनरेगा योजना के तहत आजकल सभी 54 ग्राम पंचायतों में मस्ट्रोल लगे हुए हैं लेकिन खण्ड विकास अधिकारी ने आज सभी पंचायतों को पत्र जारी किया है जिसमें उन्होंने 29 नवंबर को कार्य बंद करने का फैसला लिया है।

मनरेगा मज़दूर यूनियन के राज्य महासचिव व पूर्व ज़िला पार्षद भूपेंद्र सिंह ने इस फ़ैसले की निंदा की है जिससे हज़ारों मजदूरों को एक दिन की मज़दूरी में कमी होगी।उन्होंने बी डी ओ के पत्र पर दर्शाये गए काम बंद करने के कारणों पर भी सवाल खड़े किए हैं जिसमें उन्होंने ये बताने की कोशिश की है कि मुख्यमंत्री के दौरे के दौरान कर्मचारियों की व्यस्तता रहेगी इसलिए मनरेगा कामों की निगरानी सही तरीके से नहीं होगी।जबकि सच्चाई यह है कि वार्डों में वार्ड पंच काम की निगरानी करता है और मजदूरों से काम करवाता है।लेकिन धर्मपुर में सभी मनरेगा मज़दूरों को मुख्यमंत्री की जनसभा के लिए इकठ्ठा किया जा रहा है और जानबूझकर मनरेगा मस्ट्रोल बन्द किया गया है।भूपेंद्र सिंह ने कहा कि जलशक्ति मंत्री के दबाब के कारण विभाग ने ऐसा मज़दूर विरोधी फ़ैसला लिया है ताकि रैली में भीड़ जुटाई जा सके।मज़दूर यूनियन ने मांग की है कि सभी मनरेगा मजदूरों को 29 नवंबर काम बंद रखने के बदले में उन्हें पूरी मज़दूरी दी जाये।